विदेशी मुद्रा मुद्रा व्यापार

शेयर बाजार में फिर गिरावट का दौर

शेयर बाजार में फिर गिरावट का दौर
मिले जुले ग्लोबल संकेतों के बीच घरेलू शेयर बाजार में तेजी देखने को मिल रही है. (image: pixabay)

शेयर बाजार में लगातार तीसरे दिन गिरावट, सेंसेक्स 233 अंक गिरकर बंद

आज कंज्यूमर ड्यूरेबल, आईटी, ऑटो, हेल्थकेयर और एफएमसीजी स्टॉक्स में गिरावट दर्ज हुई है. वही रियल्टी सेक्टर में आज खरीदारी रही.

शेयर बाजार में लगातार तीसरे दिन गिरावट, सेंसेक्स 233 अंक गिरकर बंद

TV9 Bharatvarsh | Edited By: सौरभ शर्मा

Updated on: Mar 25, 2022 | 6:02 PM

शेयर बाजार में शुक्रवार (stock market today) को लगातार तीसरे दिन गिरावट रही और प्रमुख इंडेक्स (Sensex and nifty) आज करीब आधा प्रतिशत नुकसान में रहे. वैश्विक शेयर बाजारों में मिले-जुले रुख के बीच सूचकांक में मजबूत हिस्सेदारी रखने वाले एचडीएफसी बैंक, टीसीएस और इन्फोसिस में गिरावट से बाजार नीचे आया. आज के कारोबार में तीस शेयरों पर आधारित बीएसई सेंसेक्स 233.48 अंक यानी 0.41 प्रतिशत की गिरावट के साथ 57,362.20 अंक पर बंद हुआ. कारोबार के दौरान एक समय यह 495.44 अंक लुढ़क कर 57,100.24 पर पहुंच गया था. इसी प्रकार, नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी (Nifty) 69.75 अंक यानी 0.40 प्रतिशत की गिरावट के साथ 17,153 अंक पर बंद हुआ.

क्यों आई बाजार में गिरावट

शेयर बाजार में आज की गिरावट विदेशी बाजारों से मिले कमजोर संकेतों की वजह से देखने को मिली है. जुलियस बेअर के कार्यकारी निदेशक मिलिंद मुचाला ने कहा, ‘‘भारतीय शेयर बाजार में गिरावट का दौर जारी है. वैश्विक मार्चे पर खासकर भू-राजनीतिक स्थिति तथा फेडरल रिजर्व के फिर से नीतिगत दर बढ़ाने की खबरों को लेकर बाजार में प्रतिक्रिया देखने को मिल रही है. बाजार के लिये अल्पकाल में दो प्रमुख चुनौतियां मुद्रास्फीति दबाव का बने रहना और बांड प्रतिफल में तेजी है.’’एशिया के अन्य बाजारों में चीन में शंघाई कंपोजिट सूचकांक और हांगकांग का हैंगसेंग नुकसान में रहा जबकि जापान का निक्की और दक्षिण कोरिया का कॉस्पी मामूली लाभ में रहे. अमेरिकी शेयर बाजार बृहस्पतिवार को बढ़त के साथ बंद हुआ. इस बीच, अंतरराष्ट्रीय तेल मानक ब्रेंट क्रूड का भाव 1.44 प्रतिशत की गिरावट के साथ 117.32 डॉलर प्रति बैरल पर आ गया.

कहां हुई आज कमाई और कहां नुकसान

सेंसेक्स के तीस शेयरों में टाइटन, टेक महिंद्रा, मारुति सुजुकी इंडिया, विप्रो, नेस्ले इंडिया, टीसीएस, लार्सन एंड टूब्रो, एचसीएल टेक्नोलॉजीज, टाटा स्टील और एचडीएफसी में गिरावट रही.दूसरी तरफ, लाभ में रहने वाले शेयरों में डा. रेड्डीज लेबोरेट्रीज, एशियन पेंट्स, रिलायंस इंडस्ट्रीज लि., भारती एयरटेल, भारतीय स्टेट बैंक और कोटक महिंद्रा बैंक शामिल हैं सेक्टर इंडेक्स में रियल्टी इंडेक्स में सबसे ज्यादा बढ़त देखने को मिली इंडेक्स आज 1.22 प्रतिशत बढ़कर बंद हुआ है. वहीं सरकारी बैंकों में आधा प्रतिशत की बढ़त रही है. ऑयल एंड गैस, मीडिया और मेटल भी आज हरे निशान में रहे हालांकि इनकी बढ़त आज सीमित थी. दूसरी तरफ कंज्यूमर ड्यूरेबल्स सेक्टर करीब 2 प्रतिशत और आईटी सेक्टर इंडेक्स एक प्रतिशत से ज्यादा की गिरावट के साथ बंद हुआ है. ऑटो, हेल्थकेयर और एफएमसीजी सेक्टर में आधा प्रतिशत से ज्यादा की गिरावट देखने को मिली.

काम की बात: बाजार की गिरावट में भी सही रणनीति बनाकर कर सकते हैं कमाई, इन 7 बातों का रखें ध्यान

इस हफ्ते शेयर मार्केट में 2943 पॉइंट्स यानी 5.41% की गिरावट देखी गई। इस गिरावट से निवेशकों में डर का माहौल बना हुआ है। हालांकि एक्सपर्ट्स के अनुसार इस गिरावट में सही स्ट्रैटेजी आपको अच्छा पैसा कमा के दे सकती है। हम आपको ऐसी 7 बातों के बारे में बता रहे हैं जिनकी मदद से आप बाजार की गिरावट में पैसा कमा सकते हैं।

अनुशासन बनाए रखें
पोर्टफोलियो में नाटकीय रूप से बदलाव करते रहने से जोखिम बढ़ता है। ऐसी आदत लंबी अवधि के लक्ष्यों पर नकारात्मक असर डाल सकती है। बेहतर होगा कि बाजार में फौरी उतार-चढ़ाव को नजरअंदाज करें और अनुशासन बनाए रखें। यदि पोर्टफोलियो में बदलाव जरूरी लगे तो छोटे-छोटे बदलाव करें।

SIP के जरिए करें निवेश
शेयर बाजार अपने ऊपरी स्तरों से काफी गिर गया है, लेकिन फिर भी यदि निवेशक अभी निवेश करना चाह रहे हों तो उन्हें एक मुश्त निवेश करने की बजाय किस्तों में करना चाहिए। इससे शेयर बाजार से संबंधित उतार चढ़ाव का जोखिम थोड़ा कम हो जाता है। आप थोड़ा संयम रखकर गिरते बाजार में भी फायदा कमा सकते हैं।

घबराहट में निर्णय न लें
हमेशा याद रखें कि अर्थव्यवस्था और बाजार का मिजाज चक्रीय होता है। जिस तरह तेजी का दौर आता है, वैसा ही गिरावट का दौर भी बन सकता है। जाहिर है, गिरावट वाले दौर में घबराकर बिकवाली करना अच्छी रणनीति नहीं होगी। अच्छे शेयर अक्सर लंबी अवधि में बेहतर रिटर्न देते हैं।

पोर्टफोलियो में विविधता लाएं
पोर्टफोलियो में विविधता अस्थिर बाजार में निवेश की वैल्यू स्थिर रखने का अच्छा तरीका है। विविधता का मतलब है जोखिम उठाने की क्षमता और लक्ष्य के हिसाब से अलग-अलग एसेट में निवेश का बंटवारा करना। इसका फायदा यह है कि यदि एक एसेट (जैसे इक्विटी) में गिरावट आ रही हो तो उसी समय किसी दूसरे एसेट (जैसे सोने) में तेजी नुकसान को कम कर देगी।

निवेश को ट्रैक करते रहें
जब आप कई तरह के एसेट में निवेश करते हैं, तो हो सकता है कि सभी निवेश को नियमित रूप से ट्रैक नहीं कर रहे हों। ऐसे में बाजार का रुझान बदलने पर सटीक प्रतिक्रिया देना मुश्किल हो जाएगा। इसलिए यदि आप अपने निवेश को ट्रैक नहीं कर पा रहें तो एक विश्वसनीय वित्तीय सलाहकार की मदद लें।

नुकसान में न बेचें शेयर
उतार चढ़ाव शेयर बाजार का स्वभाव है। निवेशकों को शेयर बाजार में आई गिरावट से घबराना नहीं चाहिए। अगर आपने शेयर बाजार में पैसा लगा रखा है और इसमें आपको अभी नुकसान हुआ है तो भी आपको नुकसान में अपने शेयर बेचने से बचना चाहिए। क्योंकि लॉन्ग टर्म में मार्केट में रिकवरी की उम्मीद है। ऐसे में अगर आप अपने शेयर्स को लम्बे समय के लिए होल्ड करते हैं तो आपको नुकसान होने की उम्मीद कम हो जाएगी।

स्टॉक बास्केट रहेगी सही
आज कल स्टॉक बास्केट का कॉन्सेप्ट चल रहा है। इसके तहत आप शेयर्स का एक बास्केट बनाते हैं और अपने सभी शेयर्स में निवेश करते हैं। यानी अगर आप इस 5 शेयर्स में कुल 25 हजार निवेश करना चाहते हैं तो सभी में 5-5 हजार रुपए लगा सकते हैं। इससे जोखिम कम हो जाता है।

शेयर बाजार में 6 महीने जारी रहेगी गिरावट, Stanley Druckenmiller ने दी बड़ी चेतावनी

बिजनेस डेस्कः स्टैनली ड्रकेनमिलर ने वाल स्ट्रीट यानी अमेरिकी शेयर बाजारों के लिए एक बड़ी चेतावनी दी है। उन्होंने कहा कि स्टॉक मार्केट में बड़ी गिरावट का दौर अभी खत्म नहीं हुआ है। उन्होंने आशंका जताई कि अभी छह महीने और बाजार में मंदी बनी रहेगी।

ब्लूमबर्ग की एक रिपोर्ट के मुताबिक, Duquesne Family Office का संचालन करने वाले ड्रकेनमिलर ने 2022 Sohn Investment Conference के दौरान कहा, “मेरा अनुमान है कि बाजार में कम से कम छह महीने तक मंदी बनी रहेगी।” उन्होंने कहा, कुशलता के साथ ट्रेडिंग करने वालों के लिए संभवतः इसका पहला चरण खत्म हो गया है लेकिन मुझे लगता है कि इस मंदी का बाजार शेयर बाजार में फिर गिरावट का दौर अभी आगे भी जारी रहेगा।

2023 में किसी भी समय आएगी मंदी
नैस्डैक कम्पोजिट इंडेक्स अपने पिछले उच्चतम स्तर पर 20 फीसदी से ज्यादा टूट चुका है, यह बात पारम्परिक रूप से बियर मार्केट पर खरी उतरती है।

बाजार में गिरावट बढ़ने की मुख्य वजह दशकों की ऊंचाई पर पहुंची महंगाई को काबू में करने के लिए फेडरल रिजर्व द्वारा अपनाया गया आक्रामक रुख है। ड्रकेनमिलर ने कहा, इससे 2023 में किसी भी समय मंदी आने की आशंकाएं बढ़ेंगी।

लगभग एक साल पहले उन्होंने सेंट्रल बैंक की नीति को पूरी तरह अनुचित बताया था और कहा था, “हम सभी बाजारों में बढ़ती सनक की स्थिति में हैं।”

बड़ी संख्या में लोगों को हो सकता है नुकसान
ड्रकेनमिलर एक दशक से ज्यादा समय से अरबपति जॉर्ज सोरोज के लिए पैसे का प्रबंधन करते हैं। Druckenmiller ने कहा, "वह दौर निश्चित रूप से खासा मुश्किल था, क्योंकि उस अवधि के दौरान बड़ी मात्रा में एसेट्स खरीदी गई थीं। उस जोखिम भरे दौर से निकलने वाले लोग अब अपनी बड़ी पूंजी गंवा देंगे।"

सबसे ज्यादा पढ़े गए

पत्रकार की हत्या मामले में सऊदी शहजादे को बचाने के लिए अमेरिका ने उठाये कदम

पत्रकार की हत्या मामले में सऊदी शहजादे को बचाने के लिए अमेरिका ने उठाये कदम

No money for terror समिट में बोले शाह- कुछ देश आतंकियों का करते हैं बचाव और उन्हें देते हैं पनाह

No money for terror समिट में बोले शाह- कुछ देश आतंकियों का करते हैं बचाव और उन्हें देते हैं पनाह

रबी मौसम में उर्वरक की कमी नहीं, पर्याप्त आपूर्ति हो रही: केंद्र

रबी मौसम में उर्वरक की कमी नहीं, पर्याप्त आपूर्ति हो रही: केंद्र

आतंकवाद को किसी धर्म, राष्ट्रीयता या समूह से नहीं जोड़ा जाना चाहिए: शाह

आतंकवाद को किसी धर्म, राष्ट्रीयता या समूह से नहीं जोड़ा जाना चाहिए: शाह

Faridabad: बाथरूम में नहाते वक्त महिला की गैस गीजर से दम घुटने के कारण हुई मौत

Stock Market: सेंसेक्स 379 अंक बढ़कर बंद, निफ्टी 17825 पर, ऑटो शेयरों मेे तेजी, M&M MARUTI टॉप गेनर्स

Stock Market News: सेंसेक्स में 379 अंकों की तेजी रही है और यह 59,842.21 के लेवल पर बंद हुआ है. जबकि निफ्टी 127 अंक बढ़कर 17825 के लेवल पर बंद हुआ है.

Stock Market: सेंसेक्स 379 अंक बढ़कर बंद, निफ्टी 17825 पर, ऑटो शेयरों मेे तेजी, M&M MARUTI टॉप गेनर्स

मिले जुले ग्लोबल संकेतों के बीच घरेलू शेयर बाजार में तेजी देखने को मिल रही है. (image: pixabay)

Stock Market Update Today: मिले जुले ग्लोबल संकेतों के बीच घरेलू शेयर बाजार में तेजी देखने को मिल रही है. आज के कारोबार में सेंसेक्स और निफ्टी दोनों इंडेक्स में मजबूती है. सेंसेक्स 300 अंकों से ज्यादा मजबूत हुआ है, जबकि निफ्टी 17750 के पार निकल गया है. बैंक, आटो और फाइनेंशियल शेयरों में अच्छी खरीदारी है. निफ्टी पर आटो इंडेक्स 1 फीसदी मजबूत हुआ है. रियल्टी और एफएमसीजी इंडेक्स में भी करीब 1 फीसदी तेजी है. हालांकि मेटल इंडेक्स लाल निशान में हैं. आईटी और फार्मा इंडेक्स भी हरे निशान में हैं. फिलहाल सेंसेक्स में 379 अंकों की तेजी रही है और यह 59,842.21 के लेवल पर बंद हुआ है. जबकि निफ्टी 127 अंक बढ़कर 17825 के लेवल पर बंद हुआ है. हैवीवेट शेयरों में खरीदारी रही है. सेंसेक्स 30 के 26 शेयर हरे निशान में बंद हुए हैं. आज के टॉप गेनर्स में M&M, MARUTI, HINDUNILVR, HDFC, TECHM और HDFCBANK शामिल रहे हैं.

Stock Market Live: शेयर बाजार की हर खबर का अपडेट

खाद्य वस्तुओं और विनिर्मित उत्पादों की कीमतों में नरमी से थोक कीमतों पर आधारित मुद्रास्फीति जुलाई में घटकर 13.93 प्रतिशत पर आ गई. थोक मूल्य सूचकांक (डब्ल्यूपीआई) पर आधारित मुद्रास्फीति इससे पिछले महीने 15.18 फीसदी और मई में 15.88 फीसदी की रिकॉर्ड ऊंचाई पर थी. यह पिछले साल जुलाई में 11.57 फीसदी थी. डब्ल्यूपीआई मुद्रास्फीति में जुलाई के दूसरे शेयर बाजार में फिर गिरावट का दौर महीने से गिरावट का रुख देखने को मिला. इससे पहले पिछले साल अप्रैल से लगातार 16वें महीने में यह दोहरे अंकों में थी.

गुजरात सहकारी दुग्ध विपणन महासंघ (जीसीएमएमएफ) ने अपने गोल्ड, ताजा और शक्ति दूध ब्रांड की कीमतों में दो रुपये प्रति लीटर की वृद्धि की है. जीसीएमएमएफ अमूल ब्रांड के तहत अपने डेयरी उत्पादों का विपणन करती है. जीसीएमएमएफ ने मंगलवार को बयान में कहा कि नई कीमतें बुधवार से प्रभावी होंगी.

कनाडा के फेयरफैक्स समूह द्वारा समर्थित गो डिजिट जनरल इंश्योरेंस लिमिटेड ने आरंभिक सार्वजनिक निर्गम (आईपीओ) के जरिये धन जुटाने के लिए भारतीय प्रतिभूति एवं विनिमय बोर्ड (सेबी) के पास शुरुआती दस्तावेज जमा कराए हैं. दस्तावेज के मसौदे के अनुसार, आईपीओ में 1,250 करोड़ रुपये नए शेयर जारी किए जाएंगे. इसके अलावा एक प्रवर्तक और मौजूदा शेयरधारक 10,94,45,561 इक्विटी शेयरों की बिक्री पेशकश (ओएफएस) लाएंगे. ओएफएस के तहत गो डिजिट इन्फोवर्क्स सर्विसेज प्राइवेट लिमिटेड 10,94,34,783 इक्विटी शेयर बेचेगी.

LIC के शेयरों में आज तेजी देखने को मिल रही है. आज शेयर 3 फीसदी से ज्यादा मजबूत होकर 704 रुपये पर पहुंच गया. जबकि शुक्रवार को यह 682 रुपये पर बंद हुआ था. कंपनी के तिमाही नतीजे बेहद शानदार रहे हैं. जून तिमाही में कंपनी का मुनाफा सालाना आधार पर 250 गुना से ज्यादा बढ़कर 682.9 करोड़ रुपये रहा है, जबकि पिछले साल की इसी अवधि के दौरान कंपनी का शुद्ध लाभ महज 2.6 करोड़ रुपये था.

राकेश झुनझुनवाला के पोर्टफोलियो में शामिल ज्यादातर दिग्गज शेयरों में या बिकवाली देखने को मिल रही है या उनमें फ्लैट ट्रेउिंग हो रही है. आज के शुरूआती कारोबार में उनकी टॉप होल्डिंग वाले Titan, Star Health, Metro Brands, NCC जैसे शेयरों में कमजोरी नजर आ रही है. वहीं Tata Motors, फेडरल बैंक और केनरा बैंक में दायरे में कारोबार होता दिख रहा है. बता दें कि 14 अगस्त को बाजार के दिग्गज निवेशक और भारत के वॉरेन बफेट कहे जाने वाले राकेश झुनझुनवाला का निधन हो गया था. वह 62 साल के थे. उनके मौजूदा पोर्टफोलियो में कुल 32 शेयर है, जिनकी कुल वैल्यू 31,904.8 करोड़ है.

कच्चे तेल की कीमतों में फिर गिरावट आई है. चीन की ओर से डिमांड घटने की आशंका में इंटरनेशनल मार्केट में क्रूड की कीमतें 94 डॉलर प्रति बैरल के करीब आ गई हैं. हालांकि तेल कंपनियों ने कंज्यूमर्स को 16 अगस्त को भी राहत देना जारी रखा है. देश की राजधानी दिल्ली की बात करें तो 1 लीटर पेट्रोल की कीमत 96.72 रुपये है, जबकि 1 लीटर डीजल का भाव 89.62 रुपये है.

लाइफ इंश्योरेंस कॉरपोरेशन (LIC) की प्रीमियम आय में जून तिमाही में 20.35 फीसदी की बढ़ोतरी हुई है. जून तिमाही में प्रीमियम आय सालाना बेसिस पर 81,721 करोड़ रुपए के मुकाबले 98,352 करोड़ रुपए रही है. जून तिमाही के लिए कंपनी का मुनाफा सालाना आधार पर 2.94 करोड़ रुपये के मुकाबले 682.88 करोड़ रुपये रहा. इनडिविजुअल प्रथम वर्ष प्रीमियम आय में एलआईसी की बाजार हिस्सेदारी जून FY23 तिमाही के लिए 43.86 फीसदी रही. जबकि ग्रुप प्रथम वर्ष प्रीमियम आय में बाजार हिस्सेदारी 76.43 फीसदी रही.

ONGC का मुनाफा जून तिमाही में सालाना आधार पर 251 फीसदी बढ़कर 15,206 करोड़ रुपये रहा है. मजबूत परिचालन प्रदर्शन और टॉपलाइन ग्रोथ के चलते मुनाफा दमदार रहा. जून तिमाही के लिए स्टैंडअलोन रेवेन्यू 84 फीसदी बढ़कर 42,321 करोड़ रुपये हो गया. EBITDA में 125 फीसदी ग्रोथ रही और यह 24,731 करोड़ रुपये पर आ गया. मार्जिन 10065 बीपीएस बढ़कर 58.43 फीसदी हो गया.

Hero MotoCorp का मुनाफा जून तिमाही में सालाना आधार पर 71 फीसदी बढ़कर 625 करोड़ रुपये रहा है. जबकि रेवेन्यू सालाना आधार पर 53 फीसदी बढ़कर 8,393 करोड़ रुपये और EBITDA 83 फीसदी बढ़कर 941 करोड़ रुपये हो गया है. कंपनी ने वित्त वर्ष 2023 की पहली तिमाही में 13.90 लाख मोटरसाइकिल और स्कूटर बेचे, जो पिछले वित्त वर्ष की इसी तिमाही की तुलना में 36 फीसदी अधिक है.

इंफ्रा कंपनी Dilip Buildcon को जून तिमाही में 55.1 करोड़ का घाटा हुआ है. एक साल पहले की समान तिमाही में कंपनी को 32.86 करोड़ का फायदा हुआ था. जबकि मार्च तिमाही में कंपनी को 41.09 करोड़ का घाटा हुआ था. रेवेन्यू 18.3 फीसदी बढ़कर 2,884.4 करोड़ रहा.

Apollo Tyres का मुनाफा जून तिमाही में सालाना आधार पर 49 फीसदी बढ़कर 190.7 करोड़ रहा है. मजबूत परिचालन आय और टॉपलाइन ग्रोथ के चलते मुनाफा बढ़ा है. रेवेन्यू करीब 30 फीसदी बढ़कर 5,942 करोड़ रुपये रहा.

CCI ने HDFC Bank और उसके पैरेंट कंपनी HDFC के विलय प्रस्ताव को मंजूरी दे दी है. प्रपोज्ड कॉम्बिनेशन में पहले चरण में HDFC लिमिटेड के साथ HDFC इन्वेस्टमेंट्स और HDFC होल्डिंग्स के विलय और बाद में HDFC के HDFC Bank में विलय की परिकल्पना है.

ब्रेंट क्रूड में आज फिर गिरावट देखने को मिली है. इंटरनेशनल मार्केट में क्रूड 94 डॉलर प्रति बैरल पर है. वहीं अमेरिकी क्रूड 89 डॉलर प्रति बैरल पर ट्रेड कर रहा है. यूएस में 10 साल की बॉन्ड यील्ड 2.779 फीसदी के लेवल पर है.

आज के कारोबार में प्रमुख एशियाई बाजारों में मिक्स्ड रिएक्शन है. SGX Nifty में 0.37 फीसदी की तेजी है. निक्केई 225 में 0.03 फीसदी और स्ट्रेट टाइम्स में 0.23 फीसदी की गिरावट देखने को मिल रही है. हैंगसेंग में 0.54 फीसदी की तेजी देखने को मिल रही है. ताइवान वेटेड में 0.09 फीसदी और कोस्पी में 0.41 फीसदी की बढ़त है तो शंघाई कंपोजिट में 0.48 फीसदी की तेजी नजर आ रही है.

सोमवार को अमेरिकी बाजारों में मजबूती देखने को मिली है. सोमवार को Dow Jones में 151 अंकों की तेजी है और यह 33,912.44 के लेवल पर बंद हुआ है. वहीं S&P 500 इंडेक्स में 0.4 फीसदी की तेजी है और यह 4,297.14 के लेवल पर बंद हुआ है. जबकि Nasdaq में 0.62 फीसदी की बढ़त रही और यह 13,128.05 के लेवल पर बंद हुआ. बाजार की नजर अब रिटेल अर्निंग पर है.

शेयर बाजार में 6 महीने जारी रहेगी गिरावट, Stanley Druckenmiller ने दी बड़ी चेतावनी

बिजनेस डेस्कः स्टैनली ड्रकेनमिलर ने वाल स्ट्रीट यानी अमेरिकी शेयर बाजारों के लिए एक बड़ी चेतावनी दी है। उन्होंने कहा कि स्टॉक मार्केट में बड़ी गिरावट का दौर अभी खत्म नहीं हुआ है। उन्होंने आशंका जताई कि अभी छह महीने और बाजार में मंदी बनी रहेगी।

ब्लूमबर्ग की एक रिपोर्ट के मुताबिक, Duquesne Family Office का संचालन करने वाले ड्रकेनमिलर ने 2022 Sohn Investment Conference के दौरान कहा, “मेरा अनुमान है कि बाजार में कम से कम छह महीने तक मंदी बनी रहेगी।” उन्होंने कहा, कुशलता के साथ ट्रेडिंग करने वालों के लिए संभवतः इसका पहला चरण खत्म हो गया है लेकिन मुझे लगता है कि इस मंदी का बाजार अभी आगे भी जारी रहेगा।

2023 में किसी भी समय आएगी मंदी
नैस्डैक कम्पोजिट इंडेक्स अपने पिछले उच्चतम स्तर पर 20 फीसदी से ज्यादा टूट चुका है, यह बात पारम्परिक रूप से बियर मार्केट पर खरी उतरती है।

बाजार में गिरावट बढ़ने की मुख्य वजह दशकों की ऊंचाई पर पहुंची महंगाई को काबू में करने के लिए फेडरल रिजर्व द्वारा अपनाया गया आक्रामक रुख है। ड्रकेनमिलर ने कहा, इससे 2023 में किसी भी समय मंदी आने की आशंकाएं बढ़ेंगी।

लगभग एक साल पहले उन्होंने सेंट्रल बैंक की नीति को पूरी तरह अनुचित बताया था और कहा था, “हम सभी बाजारों में बढ़ती सनक की स्थिति में हैं।”

बड़ी संख्या में लोगों को हो सकता है नुकसान
ड्रकेनमिलर एक दशक से ज्यादा समय से अरबपति जॉर्ज सोरोज के लिए पैसे का प्रबंधन करते हैं। Druckenmiller ने कहा, "वह दौर निश्चित रूप से खासा मुश्किल था, क्योंकि उस अवधि के दौरान बड़ी मात्रा में एसेट्स खरीदी गई थीं। उस जोखिम भरे दौर शेयर बाजार में फिर गिरावट का दौर से निकलने वाले लोग अब अपनी बड़ी पूंजी गंवा देंगे।"

सबसे ज्यादा पढ़े गए

पत्रकार की हत्या मामले में सऊदी शहजादे को बचाने के लिए अमेरिका ने उठाये कदम

पत्रकार की हत्या मामले में सऊदी शहजादे को बचाने के लिए अमेरिका ने उठाये कदम

No money for terror समिट में बोले शाह- कुछ देश आतंकियों का करते हैं बचाव और उन्हें देते हैं पनाह

No money for terror समिट में बोले शाह- कुछ देश आतंकियों का करते हैं बचाव और उन्हें देते हैं पनाह

रबी मौसम में उर्वरक की कमी नहीं, पर्याप्त आपूर्ति हो रही: केंद्र

रबी मौसम में उर्वरक की कमी नहीं, पर्याप्त आपूर्ति हो रही: केंद्र

आतंकवाद को किसी धर्म, राष्ट्रीयता या समूह से नहीं जोड़ा जाना चाहिए: शाह

आतंकवाद को किसी धर्म, राष्ट्रीयता या समूह से नहीं जोड़ा जाना चाहिए: शाह

Faridabad: बाथरूम में नहाते वक्त महिला की गैस गीजर से दम घुटने के कारण हुई मौत

रेटिंग: 4.66
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 97
उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा| अपेक्षित स्थानों को रेखांकित कर दिया गया है *