सर्वोत्तम उदाहरण और सुझाव

Rsi indicator कैसे काम करता है

Rsi indicator कैसे काम करता है
जोखिम की चेतावनी: इस Olymp Trade द्वारा ऑफ़र किए जाने वाले लेन-देन केवल एक पूर्ण सक्षम वयस्क द्वारा निष्पादित किए जा सकते हैं। Olymp Trade Rsi indicator कैसे काम करता है पर ऑफ़र किए जाने वाले वित्तीय इंस्ट्रुमेंट्स के लेन-देनों में पर्याप्त जोखिम है; इसलिए ट्रेडिंग काफी जोखिमपूर्ण हो सकती है। यदि आप इस Olymp Trade पर ऑफ़र किए जाने वाले वित्तीय इंस्ट्रुमेंट्स के साथ लेन-देन करते हैं, आपको भारी हानि हो सकती है या आप अपने खाते की संपूर्ण धनराशि गंवा सकते हैं। इससे पहले कि आप Olymp Trade पर ऑफ़र किए जाने वाले वित्तीय इंस्ट्रुमेंट्स के साथ लेन-देन शुरू करने का निर्णय लें, आपको सेवा अनुबंध और जोखिम उद्घोषणा सूचना की समीक्षा कर लेनी चाहिए। इस Olymp Trade का स्वामी और प्रबंधकर्ता Saledo Global LLC; पंजीकरण संख्या: 227 LLC 2019; पंजीकृत कार्यालय पता: First Floor, First St. Vincent Bank Ltd Building, P. O Box 1574, James Street, Kingstown, St. Vincent & the Grenadines.

Investing Bakchodi

Support and Resistance क्या होता है और कैसे काम करता है | Support and Resistance kya hota hai

आज हम जानें गे Support and Resistance trading strategy के बारे में जो की बहुत ज्यादा मह्त्वपूर्ण है किसी भी ट्रेडर के लिए। अगर आप ट्रेडिंग अभी पहली बार स्टार्ट कर रहे हो तो शायद आपको यह शब्द नया लग रहा होगा लकिन कोई बात नहीं आप हमारे पेज पे आये है, पूरा पढ़िए आपको सब समझ आ जाएगा।

Support and Resistance होता क्या है ?

Table of Contents

देखिये support मतलब से ही समझ आ रहा है, की किसी को मजबूती देना। सबसे पहले में आपको बता दू सपोर्ट के बारें में फिर resistance के बारें में जानते है।
देखिये ट्रेडिंग में आप किसी भी चार्ट को Rsi indicator कैसे काम करता है देखते है तो आपको दिखता है, एक कैंडल ऊपर से नीचे की ओर या नीचे से ऊपर की ओर जा रही होती है लकिन कुछ टाइम बाद वो एक sideway

में चलने लगती है जैसा की आपको इमेज में दिख रहा है।
अब जैसे की इस image में दिख रहा है की market नीचे से ऊपर की और आ रही है लकिन वो अचानक से नीचे आने लगती है लकिन पूरी तरह से नीचे नहीं आ पाती और आधा नीचे आने के बाद उसे support मिल जाता है और वो फिर से ऊपर जाने लगती है, लकिन जहा से वो नीचे आना start की थी वो वही तक जा पाती है क्योकि वहा पर मिलता है RESISTANCE जो मार्किट को नीचे की और धकेल देता है, ऐसा क्यों होता है यह भी जान लेजए, RESISTANCE के पास बैठे है SELLER जैसे ही मार्किट उनके पास पहुंचने लगती है वो तुरंत बड़ी मात्रा में SELL करना स्टार्ट कर देते है। यही SAME चीज़ सपोर्ट के साथ भी होता है वहा पर BUYER बैठे होते है, जो BUY करने लगते है जिससे की मार्किट ऊपर जाने लगती है। लकिन यहां पर ज्यादा देर तक sideway मार्किट नहीं रहती एक टाइम के आने के बाद market या तो support या resistance को तोड़ देती है जिससे की मार्किट तेज़ी से ऊपर या नीचे जाती है और यह एक सबसे बढ़िया टाइम होता है पैसा कमाने का।

Support and Resistance Indicator

इंडिकेटर, जो हमे बताये की मार्किट ऊपर जायेगा या नीचे, वैसे तो बहुत सारे इंडिकेटर है लकिन जो में खुद इस्तमाल करता हूँ और जो fit भेटते है इस सपोर्ट एंड रेजिस्टेंस स्ट्रेटेजी में वही बताऊंगा आपको।

तो 2 इंडिकेटर्स है-

1. RSI Kaise Kaam Karta Hai?

दोस्तों यह एक ऐसा इंडिकेटर है जो आपको बताता है की मार्किट कि POSITION क्या है, मलतब मार्किट किस ZONE में है, OVERBOUGHT है या OVERSELL है या SIDEWAY चल रहा है यह सारी चीज़े RSI बताता है। इसकी मदत से आप पता कर सकते हो की मार्किट अब किधर जाने वाला है।

2. MACD Kaise Kaam Karta Hai?

यह बहुत काम का इंडिकेटर है तो इसे अच्छे से सीख ले ये आपकी बहुत मदत करेगा सही ट्रेड लेने Rsi indicator कैसे काम करता है में। इस इंडिकेटर में 3 लाइन होती है जिसमे से एक लाइन कन्फर्म करती है दूसरे लाइन को CUT करके की मार्किट UP या DOWN जायेगा।

Support and Resistance कैसे देखते है ?

इसको देखना बहुत आसान है, आपको कुछ टाइम देना है किसी भी स्टॉक में और यह देखना है की मार्किट कहा से down जा रही और फिर कहा से support लेकर up जा रही है, और इसी support और resistance में जब भी breakout हो आप indicator को देखे confirmation के लिए फिर ट्रेड ले सकते है।
इस बात का ख्याल रखे की stop loss जरूर लगाए। १:२ को follow करे इसका मतलब होता है १० % स्टॉप लोस्स और २०% बुक profit.

क्या support and resistance काम करता है ?

हाँ सपोर्ट एंड रेजिस्टेंस काम करता है लकिन अगर आप उसका सही तरह से इस्तमाल करे तो।

अगर आपको हमारा यह पोस्ट पसंद आया तो जरूर शेयर करें और comment में बताये कैसा लगा

Relative Strength Index (RSI) इंडिकेटर – परिभाषा और उपयोग की मार्गदर्शिका

मूल रूप से, ट्रेंड संबंधी सिग्नल प्राप्त करने के लिए RSI दिखा सकता है कि बाजार ओवरसोल्ड है या ओवर बॉट| हालाँकि यह एक साधारण इंडिकेटर है, लेकिन दूसरे इंडिकेटरों के साथ मिलाने पर अपनी प्रभावशीलता और भविष्यवाणी की उच्च दर के कारण कई पेशेवर निवेशक इसका अभी भी उपयोग करते हैं|

RSI की गणना कैसे करें

सूत्र: RSI = 100- [100 / (1 + RS (N))]

  • RS (N) पिछले N सत्रों में बढ़ने/घटने की कुल संख्या है|
  • डिफ़ॉल्ट रूप में, सर्वश्रेष्ठ परिणाम के लिए RSI की गणना N = 14 के साथ की जाती है|

इस सूत्र के अनुसार, RSI की रेंज 0 से 100 है|

RSI इंडिकेटर का उपयोग कैसे करें

RSI, DeMarker (https://traderrr.com/hi/darker-dem-indiketr-pribhaasaa-aur-iskaa-upyoga-kaise-kren/) की तरह का इंडिकेटर ग्राफ है जिसमें एक रेखा 0 से 100 तक जाती है| ऑस्सिलेटर इंडिकेटर को आमतौर पर तीन हिस्सों में बांटा जाता है: ओवरबॉट, ओवरसोल्ड और ट्रेडिंग| इसमें से RSI में होते हैं:

  • ओवरसोल्ड क्षेत्र 30 से 0 के बीच में है| जब RSI इस जोन में प्रवेश करता है तो बिक्री का वर्चस्व होता है|
  • ओवरबॉटक्षेत्र RSI का इस जोन में ऑस्सिलेट करना दिखाता है कि बाजार में खरीददार अधिक हैं|
  • ट्रेडिंगरेंज 30 से 70 के बीच होती है जिसे बैलेंस जोन कहा जाता है, और ट्रेडर ट्रेड करने के लिए इस संकेत पर भरोसा नहीं करते हैं|

RSI ओवरबॉट जोन में हो या ओवरसोल्ड में, इससे तब तक कोई फर्क नहीं पड़ता जब तक आप ऐसा सिग्नल न पकड़ लें जो ट्रेंड रिवर्सल की संभावना को दिखाता हो|

सिग्नल

ट्रेडिंग रेंज Rsi indicator कैसे काम करता है में रिवर्सल का सिग्नल

जब RSI ओवरबॉट या ओवरसोल्ड क्षेत्र में होता है, यह अचानक तेजी से ट्रेडिंग रेंज की तरफ मुड़ जाता है| यह दिखाता है कि कीमत का वर्तमान चढ़ाव/उतार रिवर्स होने वाला है:

    जब RSI 70-100 के ओवरबॉट क्षेत्र से निकलकर 30-70 के क्षेत्र में वापस लौटता है तो, यह दिखाता है कि मजबूत अपट्रेंड अब धीमा होगा और रिवर्स होकर घटने लगेगा| यहाँ पर आपको डाउनट्रेंड का ऑर्डर लगाना चाहिए|

यदि आप DeMarker, MACD, SMA, … आदि इंडिकेटरों के साथ मिलाकर इस सिग्नल को पकड़ते हैं तो ट्रेंड के पूर्वानुमान लगाने की क्षमता बढ़ जाएगी|

RSI इंडिकेटर के डाइवर्जिंग, कन्वर्जिंग सिग्नल

डाइवर्जिंग, कन्वर्जिंग सिग्नल 90% तक सही परिणाम देते हैं| जब डाइवर्जेंस, कन्वर्जेंस दिखता है, कीमत ऊपर से नीचे या इसके विपरीत रिवर्स होना शुरू हो जाती है|

यह सिग्नल RSI के तीनों क्षेत्रों में उपयोग किया जा सकता है, लेकिन कीमत जब ओवरबॉट/ओवरसोल्ड जोन में होती है तो अनुमान 95% तक सही हो सकते हैं|

वह क्षण जिसमें RSI मूल्य चार्ट के विपरीत चला जाता है, रिवर्सल का क्षण होता है:

  • कन्वर्जेंसRSIबुलिश: RSI के रिवर्स होकर बढ़ने पर मूल्य चार्ट ने एक नया न्यूनतम बिंदु बना दिया है, जो कन्वर्जेन्स सिग्नल पैदा कर रहा है| यह कीमत के रिवर्सल का संकेत है| यदि RSI ओवरसोल्ड जोन में है तो, सिग्नल 95% सटीक होता है|
  • RSIबियरिशडाइवर्जेंस: जब RSI डाउनट्रेंड रेखा बनाता है तो मूल्य चार्ट एक उच्चतम बिंदु बना देता है, जिससे डाइवर्जेंस सिग्नल पैदा होता है| यह दिखाता है कि ट्रेंड नीचे की ओर रिवर्स होगा| यदि RSI ओवरबॉट क्षेत्र में है तो संकेत 95% तक सटीक होता है|

नोट

पेशेवर ट्रेडर RSI को आमतौर पर कम सत्रों में ट्रेड करते हैं और हर सत्र की अवधि 5 से 20 मिनट के बीच रखने से बेहतर परिणाम मिलते हैं| अगर आप लंबे समय के लिए ट्रेड करना चाहते हैं तो, बेहतर विश्लेषण के लिए इसे अन्य इंडिकेटरों के साथ मिलाकर उपयोग करें|

संबंधित लेखलेखक से और अधिक

Inversion Bollinger – A Unique Indicator on Olymp Trade

इनवर्ज़न बोलिंगर – Olymp Trade पर एक अनूठा संकेतक

Trendline इंडिकेटर क्या है? लॉन्ग पोजीशन के लिए Trendline का उपयोग कैसे करें

CCI ऑसीलेटर– Commodity Channel Index – परिभाषाएँ और उपयोग

कोई जवाब दें जवाब कैंसिल करें

Search

Olymp Trade मोबाइल एप्लिकेशन डाउनलोड करें

Download Olymp Trade App for Android Download Olymp Trade App for IOS

संपादक की पसंद

Olymp Trade पर फिक्स्ड टाइम ट्रेडिंग के बारे में सब कुछ

Olymp Trade पर फॉरेक्स CFD ट्रेडिंग Spot Market से बेहतर है

विशेषज्ञ की समीक्षा: वैलेंटाइन डे ने बाजारों में खलबली मचा दी

लोकप्रिय पोस्ट

++ 50% धन जमा करने के लिए Olymp Trade प्रमोशन कोड.

Olymp Trade पर खाता कैसे बनाएँ। खाते को सक्रिय करें और.

Olymp Trade पर पैसे निकालने के लिए 3 स्टेप – पैसे.

लोकप्रिय श्रेणी

Olymp Trade ने 2014 में ऑनलाइन ट्रेडिंग बाजार में कदम रखा। तब से हमने लगातार नए का सृजन किया है और पुराने में सुधार किया है ताकि प्लेटफ़ॉर्म पर आपकी ट्रेडिंग निर्बाध और आकर्षक रहे। और यह केवल शुरुआत है।
हम व्यापारियों को सिर्फ कमाने का ही मौका नहीं देते हैं, बल्कि हम उन्हें यह भी सिखाते हैं कि कैसे कमाना है। हमारी टीम के पास विश्व स्तरीय विश्लेषक हैं। वे व्यापार की मूल रणनीतियों को विकसित करते हैं और खुले वेबिनारों में व्यापारियों को सिखाते हैं कि समझदारी से उनका उपयोग कैसे करें, और वे एक एक करके व्यापारियों से परामर्श करते हैं।
उन सभी भाषाओं में शिक्षा आयोजित की जाती है जिसे हमारे व्यापारी बोलते हैं।
Unofficial website of the Olymp Trade

जोखिम की चेतावनी: इस Olymp Trade द्वारा ऑफ़र किए जाने वाले लेन-देन केवल एक पूर्ण सक्षम वयस्क द्वारा निष्पादित किए जा सकते हैं। Olymp Trade पर ऑफ़र किए जाने वाले वित्तीय इंस्ट्रुमेंट्स के लेन-देनों में पर्याप्त जोखिम है; इसलिए ट्रेडिंग काफी जोखिमपूर्ण हो सकती है। यदि आप इस Olymp Trade पर ऑफ़र किए जाने वाले वित्तीय इंस्ट्रुमेंट्स के साथ लेन-देन करते हैं, आपको भारी हानि हो सकती है या आप अपने खाते की संपूर्ण धनराशि गंवा सकते हैं। इससे पहले कि आप Olymp Trade पर ऑफ़र किए जाने वाले वित्तीय इंस्ट्रुमेंट्स के साथ लेन-देन शुरू करने का निर्णय लें, आपको सेवा अनुबंध और जोखिम उद्घोषणा सूचना की समीक्षा कर लेनी चाहिए। इस Olymp Trade का स्वामी और प्रबंधकर्ता Saledo Global LLC; पंजीकरण संख्या: 227 LLC 2019; पंजीकृत कार्यालय पता: First Floor, First St. Vincent Bank Ltd Building, P. O Box 1574, James Street, Rsi indicator कैसे काम करता है Kingstown, St. Vincent & the Grenadines.

ट्रेडिंग इंडिकेटर क्या होता है – [2022] Trading Indicator In Hindi

ट्रेडिंग इंडिकेटर क्या होता है – Trading Indicator In Hindi , Trading Indicator Explained In Hindi: शेयर की Price ऊपर जा सकती है या नीचे यह कन्फर्म करने के लिए Indicators का उपयोग किया जाता है इंडिकेटर एक तरह का प्रोग्राम या सॉफ्टवेयर होता है जो किसी Share की Price या Volume के Past को देखकर यह एनालिसिस करता है की Future में शेयर का ट्रेंड क्या होगा।

इंडिकेटर Technical Analysis का सबसे महत्वपूर्ण भाग है Technical Indicator का उपयोग Chart Pattern और Candlestick Pattern के साथ किया जाता है इन तीनो की उपयोग से स्टॉक किस दिशा में जा सकता है उसका अंदाजा लगाया जाता है

मार्किट में हज़ारों Indicators है एक Trader को अपनी जोखिम लेने की क्षमता, अनुभव और कम्फर्ट लेवल के अनुसार इंडीकेटर्स का चुनाव करना चाहिए।

ट्रेडिंग इंडिकेटर क्या होता है

ट्रेडिंग इंडिकेटर क्या होता है

ट्रेडिंग इंडीकेटर्स के प्रकार – (Trading Type Of Indicators)

  1. Leading Indicators (लीडिंग Rsi indicator कैसे काम करता है इंडीकेटर्स)
  2. Lagging Indicators (लैगिंग इंडीकेटर्स)

1. Leading Indicators (लीडिंग इंडीकेटर्स)


Leading का अर्थ होता है नेतृत्व करना, लीडिंग इंडिकेटर किसी स्टॉक का Price Prediction करते है स्टॉक के प्राइस में आने वाली तेज़ी या मंदी का पता लगाकर उसका पहले ही सिग्नल दे देते है

Leading Indicator को Oscillators (ओसिलेटर) भी कहते है क्योंकि Leading Indicators 0 से 100 की एक रेंज के बीच में झूलते रहते है


मार्किट में आगे क्या हो सकता है Share Price आगे किस दिशा में जा सकती है यह बताने का काम Leading Indicator का होता है


Top 2 Leading Indicator:

RSI:

2. Lagging Indicators (लैगिंग इंडीकेटर्स)

लैगिंग का अर्थ होता है देरी से, Delayed या पिछड़ जाना। लैगिंग इंडीकेटर्स हमेशा Share Price के पीछे-पीछे चलता है

Lagging Indicator देरी से सिग्नल देते है मार्किट में क्या हो चूका है यह बताने का काम लैगिंग इंडीकेटर्स का होता है

शेयर प्राइस जिस भी दिशा में जा रहा हो चाहे वह ऊपर की तरफ जा रहा हो या नीचे की तरफ उसकी दिशा को Confirm करने के लिए Lagging Indicators का उपयोग किया जाता है।

इंडिकेटर के फायदे (Advantages of Technical Indicators)


इंडिकेटर की सहायता से किसी भी स्टॉक की कीमत ऊपर की तरफ जाने वाली है या नीचे की तरफ इसे समझने में मदद मिलती है इंडिकेटर से स्टॉक कहां खरीदना है और कहां बेचना है उन Levels को पता करने में मदद मिलती है

Stock चाहे Uptrend में हो, Downtrend में हो या Sideways Trend में इंडीकेटर्स का उपयोग करके स्टॉक के ट्रेंड का पता लगाया जा सकता है।

एक ट्रेडर को मार्किट में तेज़ी से बदलते हुए Trend में तेज़ी से Respond करना होता है इंडीकेटर्स ट्रेडर की Quick Decision Making में हेल्प करते है। इंडीकेटर्स स्टॉक मार्किट के Behaviour को समझने में मदद करता है की हमें Trade लेना चाहिए या नहीं।


इंडिकेटर की सीमाएं (Limitations of Technical Indicators)


इंडिकेटर सिर्फ Price Prediction करता है जरूरी नहीं की जो Signal इंडिकेटर ने दिया हो वो सही हो इंडिकेटर के सिग्नल गलत भी होते है।

कभी भी एक चार्ट में 3 से ज्यादा इंडिकेटर का उपयोग नहीं करना चाहिए बहुत सारे Indicators का उपयोग करने से सभी इंडीकेटर्स अलग-अलग सिंग्नल देने लगते है जिससे ख़रीदा-बेचना है या नहीं यह निर्णय लेना मुश्किल हो जाता है

Indicators किसी भी स्टॉक में संभावित Entry और Exit Point देते है जरूरी नहीं है की मार्किट उन एंट्री और एग्जिट पॉइंट के हिसाब से चले Entry लेने के बाद Stock नीचे भी गिर सकता है और Exit लेने के बाद Stock बढ़ भी सकता है।

बहुत सारे इंडीकेटर्स एक दूसरे के विरोधाभासी होते है अगर एक इंडिकेटर Buy Signal देता है तो दूसरा Sell Signal देता है

उम्मीद करता हु आपको इंडिकेटर क्या है समझ आया होगा अगर आपका अभी भी कोई सवाल है ट्रेडिंग इंडिकेटर क्या होता है – W hat Is Trading Indicator In Stock Market In Hindi तो कमेंट करके पूछ सकते है।

Renko Trading Strategy हिंदी में – मूविंग एवरेज और RSI के साथ।

Renko trading strategy in Hindi

Renko Trading Strategy in Hindi

Table of Contents

Renko Trading Strategy – Moving Average और RSI.

Moving Average with RSI इस रेंको ट्रेडिंग स्ट्रैटर्जी में २१ Day की simple moving average का इस्तेमाल किया हैं, चाहे तो आप Exponential moving average का भी इस्तेमाल कर सकते हैं।

हर एक ट्रेडर के लिए चाहे Intraday Trader, Swing Trader या Positional Trader अलग-अलग दिनों की मूविंग एवरेज अपने हिसाब से इस्तेमाल कर सकते हैं।

मूविंग एवरेज से हमें ट्रेंड का पता चलेगा और कन्फर्मेशन के लिए हम rsi indicator की मदत लेंगे ।

Renko Chart Trading Strategy – moving average strategy Renko Chart Trading Strategy – RSI strategy

जब renko bars मूविंग एवरेज के ऊपर जाते हैं, तब हमें शेयर Buy करना हैं और कन्फर्मेशन के लिए rsi इंडिकेटर भी देखना हैं।

जब renko bars मूविंग एवरेज के निचे जाये तब हमें स्टॉक को Sell करना हैं।

अगर आप किसी शेयर का रेंको चार्ट के आधार पर विश्लेषण करना चाहते हैं तो आप Tradingview.com और Investing.com पे कर सकते हैं।

निष्कर्ष

Renko trading काफी आसान हैं, कैंडलस्टिक ट्रेडिंग और अन्य ट्रेडिंग के मुकाबले क्योंकि रेंको चार्ट time और volume के आधार पर काम नहीं करता हैं, वह सिर्फ भाव के आधार पर काम करता हैं।

भाव याने के Price के आधार पर काम करने की वजह से renko chart काफी साधारण और समज़ने में काफी आसान होते हैं।

अगर आप को यह आर्टिकल पसंद आया हो तो आप इसे शेयर जरूर कीजिये।

अन्य पढ़े :-

Q.1.क्या renko trading कैंडलस्टिक ट्रेडिंग से आसान हैं ?

Ans: Renko trading काफी आसान हैं, कैंडलस्टिक ट्रेडिंग और अन्य ट्रेडिंग के मुकाबले क्योंकि रेंको चार्ट time और volume के आधार पर काम नहीं करता हैं, वह सिर्फ भाव के आधार पर काम करता हैं।
भाव याने के Price के आधार पर काम करने Rsi indicator कैसे काम करता है की वजह से renko chart काफी साधारण और समज़ने में काफी आसान होते हैं।

Q.1.Renko trading Strategy क्या हैं ?

Ans: इस आर्टिकल में आप को Renko trading Strategy Moving Average और RSI के साथ बताई हैं।
मूविंग एवरेज से हमें ट्रेंड का पता चलेगा और कन्फर्मेशन के लिए हम rsi indicator की मदत लेंगे ।

रेटिंग: 4.69
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 492
उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा| अपेक्षित स्थानों को रेखांकित कर दिया गया है *